Archive for the ‘Poetry’ Category

सपना

Posted: January 27, 2011 in Poetry

Anjan Kumar Poetry

ताना बाना

Posted: November 22, 2010 in Poetry

Anjan Kumar Singh

Anjan Kumar


मना लेता तुझे

Posted: October 5, 2010 in Poetry

दर्द तो जीने नहीं देता मुझे और मैं मरने नहीं देता उसे, रूठने का गर मुझे होता पता क्या मैं खुद ही न मना लेता तुझे।

Tum Mai Aur Hum

Posted: September 27, 2010 in Poetry

Tum Mai Aur Hum